विवि की विशेषता

विश्वविद्यालय की विशेषता

स्नातक स्तर की कक्षाओं का संचालन इस विश्वविद्यालय की प्रमुख विशेषता है। देश के गिने चुने विश्वविद्यालयों में स्नातक स्तर की कक्षाओं का संचालन शिक्षण विभागों में होता है, उनमें से यह भी एक है। बीए, बीएससी एवं बीकॉम पाठयक्रमों में छात्रों की संख्या काफी बड़ी है। बीए स्तर पर 5 वैकल्पिक विषय समूहों के अंतर्गत 25 विषयों की अध्ययन सुविधा है।
Nehru Librery विश्‍वविद्यालय में बीएससी में 24 विषय समूहों में से किसी एक के अध्ययन की सुविधा है। इनमें कंप्यूटर साइंस, माइक्रोबायोलॉजी, बायोटेक्‍नोलॉजी और इंडस्ट्रियल कैमिस्ट्री के रोजगारमूलक पाठयक्रम भी शामिल हैं। बीकॉम में कंप्यूटर अनुप्रयोग का लोकप्रिय विकल्प भी सुलभ है। बीफॉर्म, बीबीए, बीलिबआई, बीसीजे, बीसीए एवं बीएड के व्यावसायिक पाठयक्रम स्नात स्तर पर उपलब्ध हैं। विश्वविद्यालय के सत्र 2006-2007 में करीब 75 हजार छात्र विभिन्न परीक्षाओं में सम्मिलित हुए।

उच्चतर शोध एवं अनुसंधान: सभी विभागों में स्नातकोत्तर पाठयक्रमों के अलावा 15 डिप्लोमा पाठयक्रम भी विभिन्न शिक्षण विभागों के माध्यम से चलाए जा रहे हैं। विश्वविद्यालय में पॉपुलेशन रिसर्च का एक केंद्र भी संचालित हो रहा है। सभी संकायों में शोध की सुविधा है। विश्वविद्यालय के पुस्तकालय में करीब 35 लाख पुस्तकें हैं।

कॉपीराइट- डेली हिंदी न्‍यूज़ डॉट कॉम


विश्‍वविद्यालय के संसाधन एवं आय
विश्‍वविद्यालय के विभाग
डॉ हरिसिंह गौर ने की सागर विश्वविद्यालय की स्‍थापना

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*