नेमिनाथ भगवान की पद्मासन मूर्ति कमल पर विराजमान

bhagwan-neminathbhagwan-neminathसागर (डेली हिंदी न्‍यूज़)। अतिशय क्षेत्र मंगलगिरी में आचार्य आर्जवसागर महाराज के ससंघ सानिध्य में नेमिनाथ भगवान की पद्मासन मूर्ति कमल पर विराजमान की गई। बुधवार दोपहर आचार्य आर्जवसागर महाराज ने श्रीफल के माध्यम से संसार से मोक्ष की सीढी के बारे में विस्तारपूर्वक बताते हुए कहा कि नारियल अर्थात न दिखने वाला।

इसके पूर्व सुबह श्रीजी का अभिषेक पूजन शांति धारा जाप के बाद दोपहर में वेदी शुद्वि का कार्यक्रम हुआ। जिस पर सवा ग्यारह फुट ऊंची पद्मासन मूर्ति नेमिनाथ भगवान की स्थापित की गई। जो कि राजस्थान के कुचामन सिटी से काले पत्थर से तैयार होकर आई है।

मंगलाचरण ईसान वारदाना ने संस्कृत के श्लोकों में किया। इस अवसर पर कंछेदी दाऊ, नेमीचंद्र जैन, प्रमोद वारदाना, पूर्व विधायक सुनील जैन, प्रो कांतकुमार सराफ, प्रो केसी जैन, कपिल मलैया, डॉ अशोक सिंघई, डॉ राजुल सिंघई नरेंद्र नायक सहित बडी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे। गुरुवार सुबह आचार्य आर्जवसागर महाराज का दीक्षा दिवस वर्णी भवन मोराजी में मनाया जाएगा।


डेली हिंदी न्‍यूज़ मोबाइल पर क्लिक करें
For latest sagar news right from Sagar (MP) log on to Daily Hindi News सागर न्‍यूज़ के लिए डेली हिंदी न्‍यूज़ नेटवर्क Copyright © Daily Hindi News 2017

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*